Coconut Shell Charcoal Making Business 2024: लाखों की होगी कमाई (कोकोनट सेल चारकोल बनाने का बिजनेस)

Coconut Shell Charcoal Making Business 2024: क्या है, कैसे शुरू करें, प्रक्रिया, बनाने का तरीका, मार्केटिंग, लाइसेंस, निवेश, कॉस्ट, प्रॉफिट, जोखिम (कोकोनट सेल चारकोल बनाने का बिजनेस) (Marketing, License, Registration, Investment, Cost, Profit, Risk)  

साल 2024 की शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में आपने यह निश्चय कर लिया है कि, साल 2024 में आप अमीर बनकर ही रहेंगे और इसके लिए आप कोई बिजनेस चालू करना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आ चुके हैं, क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको आज एक ऐसे यूनीक बिजनेस आइडिया की जानकारी देने वाले हैं, जिसे मार्केट में अभी ज्यादा लोग कर ही नहीं रहे हैं। या यूं कहे की अधिकतर लोगों का इस बिजनेस की तरफ अभी ध्यान ही नहीं गया है। ऐसे में अगर आप इस बिजनेस को शुरू कर लेते हैं, तो यह बात तो तय है कि, आपको अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता। हम बात कर रहे हैं कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस के बारे में। आईए इस पेज पर पूरी जानकारी हासिल करते हैं कि कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस क्या है और कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस कैसे करें।

Coconut Shell Charcoal Making Business

Table of Contents

Coconut Shell Charcoal Making Business कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस क्या है

नारियल के खोल के माध्यम से कोयला बनाने के बिजनेस को ही कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस कहा जाता है। नारियल पानी पीने के बाद अथवा नारियल की गरी खाने के बाद अधिकतर लोग उसके खोल को फालतू समझ कर यहां वहां फेंक देते हैं, परंतु यह फालतू का खोल नहीं होता है, बल्कि इसका इस्तेमाल करके ढेर सारा पैसा भी कमाया जा सकता है। क्योंकि नारियल खोल के माध्यम से चारकोल अर्थात कोयला भी बनाया जा सकता है। इस कोयला को यदि जलाया जाता है, तो यह वातावरण में ज्यादा धुआं पैदा नहीं करता है। नारियल का चारकोल बनाकर के आप बड़ी-बड़ी कंपनी जैसे की स्टील प्लांट, सीमेंट उद्योग इत्यादि को इसे बेच सकते हैं और कम समय में ज्यादा पैसा कमा कर अमीर बन सकते हैं। आप चाहे तो अपने लोकल इलाके में ईंट भट्ठा वालों को भी इस कोयले की बिक्री कर सकते हैं।

कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस कैसे करें

किसी भी बिजनेस के बारे में बिना पूरी जानकारी हासिल किए यदि बिजनेस की शुरुआत की जाती है, तो इस बात की ज्यादा संभावना होती है कि, बिजनेस डूब जाता है और आपको तगड़ा पैसों का नुकसान हो जाता है। इसलिए हमारी आपको यही सलाह है कि, सिर्फ कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस ही नहीं बल्कि किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले उसके बारे में ज्यादा से जानकारी इकट्ठा करने का प्रयास करें। ताकि आपको यह अंदाज़ा आ जाए कि, बिजनेस शुरू करना आपके लिए अनुकूल रहेगा या नहीं। इसलिए हम भी इस आर्टिकल में आपको कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस को शुरू करने के लिए कई महत्वपूर्ण बातें बता रहे हैं, ताकि आप सही निर्णय ले सकें।

कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस की शुरुआत कैसे करें

नीचे हमने आपके साथ सरल हिंदी भाषा में Coconut Shell Charcoal Making Business Idea 2024 की जानकारी शेयर की है।

पैसों का प्रबंध करें

इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक है पैसों की व्यवस्था होना, क्योंकि पैसा होगा, तभी आप आगे अपने कदम बढ़ा सकेंगे। इसलिए सबसे पहले बिजनेस शुरू करने के लिए पैसे की व्यवस्था अवश्य ही कर ले। पैसा कितना लगेगा यह डिपेंड करेगा कि, आप कितने बड़े या फिर छोटे लेवल पर कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं। हमारी जानकारी के अनुसार छोटे लेवल पर भी इस बिजनेस को यदि शुरू किया जाता है, तो भी 5 लाख से ज्यादा रुपए लगेंगे ही और बड़े लेवल पर बिजनेस शुरू करते हैं, तो 25 से 30 लाख रुपए तक लग सकते हैं। हालांकि कई जगह पर बिजनेस में लगने वाली कास्ट कम या ज्यादा भी हो सकती है। यदि आपके पास पर्याप्त मात्रा में पैसा नहीं है, तो आप बैंक से लोन भी ले सकते हैं।

लोकेशन देखें

बिजनेस ऐसी जगह पर शुरू करना अच्छा रहेगा, जहां पर रोड, बिजली और पानी की अच्छी अवस्था हो और यह जगह शहर के आसपास में ही हो, ताकि आपको कच्चा माल लाने के लिए और तैयार माल भेजने के लिए ज्यादा दिक्कतों का सामना न करना पड़े। यदि आपकी कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग फैक्ट्री ऐसी जगह पर होगी, जहां पर उपरोक्त सभी चीजों की अच्छी व्यवस्था है, तो थर्ड पार्टी क्लाइंट भी आपसे डील करने में इंटरेस्ट लेंगे, क्योंकि उन्हें पता रहेगा कि, आपकी फैक्ट्री के प्रोडक्ट अच्छे ही रहेंगे साथ ही आप भी ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्शन डिमांड बढ़ने पर कर सकेंगे।

फैक्ट्री का निर्माण करवाए

लोकेशन देखने के बाद अब आपको संबंधित लोकेशन पर फैक्ट्री का निर्माण करवाना शुरू कर देना है। फैक्ट्री का निर्माण आप चाहे तो स्टील के पतरे के द्वारा भी करवा सकते हैं या फिर प्लास्टिक की चादरों के द्वारा भी करवा सकते हैं। हालांकि ध्यान दें कि, अगर आप ऐसी जगह पर अपने बिजनेस के लिए फैक्ट्री लगा रहे हैं, जो जगह आपकी खुद की नहीं है, तो फैक्ट्री का निर्माण करवाने से पहले जगह के मालिक से भाड़े का एग्रीमेंट अवश्य करवा ले। एग्रीमेंट लंबे समय के लिए करवाए, ताकि बार-बार एग्रीमेंट की अवधि पूरी होने के बाद एग्रीमेंट करवाने का झंझट न पालना पड़े। इस बिजनेस के लिए 1000 वर्ग मीटर से लेकर के 1500 वर्ग मीटर की जगह की आवश्यकता हो सकती है।

जरूरी लाइसेंस हासिल करें और पंजीकरण करवाए

इस बिजनेस के लिए आपको अपने कंपनी का पंजीकरण करवाने की आवश्यकता होगी साथ ही आपको बिजनेस के लिए ट्रेड लाइसेंस भी लेना होगा। इसके अलावा यदि आपको लगता है कि, आपकी कंपनी का टर्नओवर 20 लाख से ज्यादा का हो सकता है, तो आपको जीएसटी का पंजीकरण भी करवाना होगा। इसके अलावा उद्यम पंजीकरण भी करवाने की आवश्यकता आपको है, ताकि सरकार की तरफ से आपको सब्सिडी मिल सके। आप जिस जगह पर बिजनेस कर रहे हैं, अगर उस जगह के आसपास लोग रहते हैं, तो आपको लोकल नगर पालिका से एनओसी भी हासिल करना होगा। इसके अलावा कमर्शियल बिजली का कनेक्शन और पानी का कनेक्शन भी आपको लेना होगा।

फैक्ट्री में मशीनों की स्थापना करें

अब आपको फैक्ट्री में मशीनों की स्थापना करनी है। इसके अंतर्गत कार्बोनाइजिंग मशीन लगाए। यह नारियल के सेल का कार्बोनाइजिंग करती है। वहीं ग्राइंडिंग मशीन कार्बोनाइज नारियल के सेल के पाउडर को तैयार करने में सहायता करती है। इसके अलावा मिक्सिंग मशीन से सभी कच्ची सामग्री को मिक्स किया जा सकता है। वही ब्रिकेट मेकिंग मशीन के माध्यम से चारकोल का छोटा-छोटा क्यूब बनाया जा सकता है। इसके अलावा चारकोल ड्रायर चारकोल के क्यूब को जल्दी सुखाने में सहायता करती है। इन सभी मशीनों की खरीदारी करने के लिए इंटरनेट पर सर्च कर सकते हैं, जहां से आपको कंपनी का नंबर मिल सकते हैं, जिनसे आप बात करके मशीनों का ऑर्डर दे सकते हैं।

रॉ मटेरियल का प्रबंध करें और बिजनेस शुरू करें

मशीनों की स्थापना करने के बाद अब आपको बिजनेस शुरू करने के लिए रो मटेरियल का भी प्रबंध करना होगा। इसके अंतर्गत आपको नारियल के सेल की व्यवस्था करनी होगी, जो आपको ₹10 से लेकर ₹15 प्रति किलो होलसेल की कीमत पर आसानी से मिल जाएंगे। इसके अलावा आपको स्टार्च पाउडर लेना होगा, जो मार्केट में 40 से ₹50 प्रति किलो के हिसाब से आसानी से हासिल हो जाते हैं। यह दोनों चीज इस बिजनेस के लिए सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट मानी जाती है। सभी रॉ मटेरियल का प्रबंध हो जाने के बाद अब आपको अपने बिजनेस की शुरुआत करनी है और कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस विधि के माध्यम से नारियल के कोयले का निर्माण कर लेना है।

कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस में निवेश

आर्टिकल में हमने आपको पहले ही बता दिया है कि, इस बिजनेस को शुरू करने के लिए कितना पैसा लगाना होगा। यह इसी बात पर डिपेंड करेगा कि बिजनेस को बड़े लेवल पर शुरू किया जा रहा है या फिर छोटे लेवल पर शुरू किया जा रहा है। छोटे लेवल पर शुरू करने पर 5 से 7 लाख रुपए का इन्वेस्टमेंट और बड़े लेवल पर यदि बिजनेस चालू किया जाता है, तो 25 से 30 लाख रुपए का इन्वेस्टमेंट लग सकता है। इतने पैसे में इस बिजनेस के लिए सभी महत्वपूर्ण मशीनों की खरीदारी हो जाएगी, साथ ही अन्य जरूरी सामग्री भी इसी पैसे में आ जाएगी।

कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस में कर्मचारी

इस बिजनेस को अधिकतर मशीनो के द्वारा ही किया जाता है। ऐसे में मशीन को चलाने के लिए आपको कर्मचारियों की भी आवश्यकता होगी। छोटे लेवल पर अगर आपने बिजनेस चालू किया है, तो हर मशीन के लिए कम से कम एक कर्मचारी और अन्य महत्वपूर्ण कामों के लिए भी थोड़े बहुत कर्मचारियों की आवश्यकता होगी। वहीं बड़े लेवल पर भी हर मशीन के लिए एक कर्मचारी और अन्य कामों के लिए दूसरे कर्मचारियों की आवश्यकता होगी। देखा जाए तो छोटे लेवल पर कम से कम 8 से 10 कर्मचारी और बड़े लेवल पर 15 से 20 कर्मचारियों की आवश्यकता आपको काम करने के लिए होगी। किसी भी कर्मचारी को यदि आप काम पर रखें, तो पहले यह चेक कर ले कि, वास्तव में उन्हें मशीन ऑपरेट करना आता है या नहीं, साथ ही उनकी पगार से संबंधित बातों को भी क्लियर कर ले ताकि बाद में किसी भी प्रकार के विवाद से आप बचे रहे।

कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस की मार्केटिंग

बिजनेस की मार्केटिंग आसानी से कर सकते हैं। शहर के बड़े अखबार में अपने बिजनेस की एडवर्टाइजमेंट दे सकते हैं या सोशल मीडिया के द्वारा इस बिजनेस का प्रमोशन करवा सकते हैं। आसपास के बड़े बाजार में या फिर बड़े मार्केट में आप बिजनेस का बैनर भी लगवा सकते हैं अथवा पै़पलेट प्रिंट करवा कर भी आप इसका वितरण लोगों को डायरेक्ट करवा सकते हैं। इससे लोग आपके बिजनेस के बारे में जानने लगते हैं और यदि किसी को वास्तव में चारकोल की आवश्यकता होती है, तो वह फोन नंबर के माध्यम से आपसे संपर्क करते हैं और आगे का सौदा पक्का करते हैं।

आशा करते हैं कि Coconut Shell Charcole Making Business Idea आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आर्टिकल में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि Coconut Shell Charcole Making Business Investment, Profit, Worker, Raw Material, Machinery, License इत्यादि प्राप्त हो गई होगी।

इसके अलावा भी यदि आप अन्य कोई जानकारी इस आर्टिकल‌ से संबंधित पाना चाहते हैं, तो Comment Box में अपना सवाल पूछ सकते हैं। हम जल्द ही आपके सवाल का जवाब देंगे। आप चाहे तो हमें सपोर्ट करने के लिए इस आर्टिकल को Whatsapp, Twitter, Telegram और अन्य सोशल मीडिया पर Share भी कर सकते हैं। अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के लिए हमारे दूसरे Blog Post को भी पढ़ सकते हैं।

होमपेजयहां क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल जॉइन करेंयहां क्लिक करें

FAQ

Q : क्या कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस करना फायदेमंद है?

Ans : जी हां!

Q : क्या कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस भविष्य में चलेगा?

Ans : बिल्कुल

Q : कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस के तहत निर्मित आइटम की डिमांड कहां पर होती है?

Ans : ईट-भट्टा, स्टील प्लांट, सीमेंट प्लांट, घरों में इत्यादि

Q : बड़े स्तर पर कोकोनट सेल चारकोल बिजनेस शुरू करने में कितना पैसा लगेगा?

Ans : 25 से 30 लाख रुपए

Q : कोकोनट सेल चारकोल मेकिंग बिजनेस के लिए कौन सी योजना से लोन मिलेगा?

Ans : प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment