Transcription Service Business 2023: ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस कमाए 1 लाख रुपए महीना, Profit

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस [बिज़नस कैसे शुरू करें, जोखिम, फ़ायदा, लागत, मार्केट में मांग, रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस ] Transcription Service Business [How to start, risk, benefits, profit, investment, market demand, License and Registration ]

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस एक ऐसा बिजनेस है जो बेहद कम इन्वेस्टमेंट मांगता है। इस बिजनेस को ₹100000 से भी कम में चालू किया जा सकता है। हालांकि इन्वेस्टमेंट कम होने की वजह से आप यह न सोचे कि इसमें फायदा कम होगा। ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस के द्वारा आप महीने में लाखों रुपए कमा सकते हैं। इस बिजनेस को आप ऑफलाइन भी कर सकते हैं साथ ही ऑनलाइन भी कर सकते हैं।

इस बिजनेस की खास बात यह है कि यहां पर आपको क्लाइंट देश के अलावा विदेशों से भी मिलते हैं। इसीलिए आपके पास काम की कोई कमी नहीं होती है। बस एक बार आपको कस्टमर पर अपना विश्वास जमाना होता है। अगर आप ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल के द्वारा पहले यह जानें कि “ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस क्या है” और “ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस कैसे करते हैं।”

Transcription Service Business

Table of Contents

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस [Transcription Service Business]

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस क्या है?

किसी रिकॉर्ड की गई ऑडियो या वीडियो को टेक्स्ट में तब्दील करने के कार्य को ही ट्रांसक्रिप्शन कहां जाता है। अगर आप अकेले इस प्रकार का काम करते हैं तो वह एक नौकरी के अंतर्गत आएगा। परंतु अगर आप एक ऑफिस खोल करके दूसरे लोगों से इस प्रकार का काम करवाते हैं, तो यह बिजनेस की कैटेगरी में आता है।

ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस के अंतर्गत लोगों को विभिन्न प्रकार के ट्रांसक्रिप्शन करने होते हैं, जैसे कि मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन, लीगल ट्रांसक्रिप्शन, फाइनेंसियल ट्रांसक्रिप्शन, टेक्निकल ट्रांसक्रिप्शन इत्यादि।

जैसे कि अगर डॉक्टर और मरीज के बीच बातचीत हुई है तो उसे मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन कहा जाएगा। किसी जज और वकील के बीच बातचीत हुई है तो उसे लीगल ट्रांसक्रिप्शन कहा जाएगा। किसी दो लोगों के बीच बिजनेस से संबंधित बातचीत हुई है तो उसे फाइनेंशियल ट्रांसक्रिप्शन कहा जाएगा।

इंजीनियर और टेक्निकल एक्सपर्ट के बीच बातचीत हुई है तो उसे टेक्निकल ट्रांसक्रिप्शन कहा जाएगा। आपको ट्रांसक्रिप्शन के अंतर्गत ट्रांसक्रिप्ट की गई चीज को टेक्स्ट फॉर्मेट में लाना होता है और उसका प्रिंट आउट निकाल कर के हार्ड कॉपी के तौर पर प्रस्तुत करना होता है।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस कैसे करें? [How to start Transcription Business]

अगर आप खुद का ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हैं तो इसके लिए ज्यादा अनुभव की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि इसमें यह चीज आवश्यक है कि आपके ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस में जो व्यक्ति काम कर रहे हैं उन्हें कितनी भाषाओं का ज्ञान है।

अगर आपने अपने ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस में ऐसे लोगों को रखा है जो अधिक से अधिक भाषाओं का ज्ञान रखते हैं तो वह अधिक से अधिक भाषाओं में ट्रांसक्रिप्शन के काम को हैंडल कर सकेंगे। और इस प्रकार से आप के बिजनेस को अधिक से अधिक ट्रांसक्रिप्शन वाले कस्टमर मिलेंगे, जिससे आपको अधिक से अधिक फायदा होगा।

वैसे तो अधिकतर ट्रांसक्रिप्शन का काम अंग्रेजी भाषा में ही होता है जो कि सामान्य तौर पर अधिकतर लोगों को आती है। आइए हम नीचे विस्तार से जानते हैं कि ट्रांसक्रिप्शन का बिजनेस कैसे किया जाता है।

1: जरूरी साधनों का प्रबंध करें।

ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस को करने के लिए अथवा करवाने के लिए आपके पास कंप्यूटर और लैपटॉप होना चाहिए। आप अपने ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या के हिसाब से कंप्यूटर अथवा लैपटॉप की व्यवस्था कर सकते हैं।

अगर आप के ऑफिस में 3 कर्मचारी काम कर रहे हैं तो आपके ऑफिस में टोटल 4 कंप्यूटर होने चाहिए जिसमें से एक कंप्यूटर पर आप ऑफिस की सारी देखभाल करेंगे और बाकी के 3 कंप्यूटर पर ऑफिस के कर्मचारी ट्रांसक्रिप्शन का काम करेंगे। इसके साथ ही आपको अच्छी इंटरनेट स्पीड वाला डाटा कनेक्शन भी लेना है। इसके अलावा माइक्रोफोन की व्यवस्था करें। जरूरत के हिसाब से टेबल और कुर्सी की व्यवस्था करें।

2: पेपल अकाउंट बनाएं।

ट्रांसक्रिप्शन के काम के अंतर्गत आपको अधिकतर क्लाइंट ऑनलाइन ही मिलेंगे और ऑनलाइन क्लाइंट आपको देश के अलावा विदेशों से भी मिलेंगे। इसीलिए आपको काम के बदले में जो पेमेंट प्राप्त होगी उसे हासिल करने के लिए पेपल अकाउंट बनाना पड़ेगा।

इसके साथ ही आपको अपना करंट अकाउंट भी बैंक में खुलवाना पड़ेगा क्योंकि हो सकता है कि अगर आपका बिजनेस सफलता की ऊंचाइयों पर चला जाए तो बिजनेस के अंतर्गत आने वाली पेमेंट को हैंडल करने के लिए करंट अकाउंट की ही आवश्यकता पड़ेगी। इसलिए करंट अकाउंट और पेपल अकाउंट अवश्य बनवाएं।

3: दुकान लें।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए आपको ज्यादा बड़ी जगह की जरूरत नहीं होती है। एक मीडियम साइज के कमरे में भी आप अपना ऑफिस डाल सकते हैं और उसमें ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस को स्टार्ट करवा सकते हैं।

हालांकि अगर आप के ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या अधिक है तो आपको एक बड़े साइज के कमरे की आवश्यकता पड़ेगी। अगर आपके पास मेन रोड पर खुद का मकान है तो उसमें भी आप इस काम को चालू कर सकते हैं या फिर आप मेन रोड पर बड़ा सा कमरा लेकर के इस बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं।

4: लोकेशन चुनें!

इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए आपको हमेशा भीड़भाड़ वाली जगह का ही चयन करना चाहिए। हमारी सलाह के अनुसार आपको मेन रोड के अगल बगल में ही इस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए अपना ऑफिस डालना चाहिए, क्योंकि मेन रोड पर एक तो भीड़-भाड़ रहती है।

ऊपर से आसानी से लोगों की नजर आपके ऑफिस पर जाएगी जिससे अधिक से अधिक क्लाइंट आपके पास ट्रांसक्रिप्शन सर्विस के लिए आएंगे।

5: स्टाफ की व्यवस्था करें।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए आपको कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी। अब यह आपको तय करना है कि आप अपने ऑफिस में कितने कर्मचारियों को रखेंगे। अगर आपने हाल ही में इस बिजनेस को स्टार्ट किया है तो शुरुआत में आपको 1 से 2 कर्मचारियों को काम करने के लिए रखना चाहिए और जब आपका बिजनेस एक बार चल पड़े तो आप आवश्यकता के हिसाब से कर्मचारियों की संख्या को बढ़ा भी सकते हैं।

हालांकि आप चाहे तो कर्मचारियों को work-from-home का काम भी दे सकते हैं परंतु बेहतर यही होगा कि आप कर्मचारियों को ऑफिस में बुलाकर के सामने काम करवाएं, ताकि वह किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न करें या फिर काम में लापरवाही ना करें।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस में इन्वेस्टमेंट [Investment]

यह बिजनेस बहुत ही कम इन्वेस्टमेंट मांगने वाला बिजनेस है। इस बिजनेस में आपको सिर्फ जरूरी सामानों पर ही पैसे खर्च करने होते हैं जैसे की कुर्सी, टेबल, लैपटॉप, कंप्यूटर और अन्य जरूरी चीजें। इस प्रकार से इस बिजनेस को 1 लाख के अंदर आसानी से स्टार्ट किया जा सकता है। अगर आप इस बिजनेस को करने के लिए भाड़े पर रूम नहीं लेते हैं और आपके पास खुद का ऑफिस है तो आपका किराया का खर्चा भी बच जाता है जिससे आपकी कॉस्ट और भी कम आती है।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस की मार्केटिंग [Market Demand]

कहावत है कि जो जितना दिखेगा वह उतना बिकेगा। इस प्रकार से अपने बिजनेस को सफलता की ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए आपको इसकी मार्केटिंग करनी पड़ेगी। इसके लिए आप अखबारों में बिजनेस की एडवर्टाइजमेंट दे सकते हैं।मपेंपलेट प्रिंट करवा कर के लोगों के बीच बांट सकते हैं।

रिक्शा के पीछे अपने बिजनेस का विज्ञापन प्रिंट करवा सकते हैं। अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और परिचित लोगों को अपने बिजनेस के बारे में बता सकते हैं। गूगल मैप पर अपने बिजनेस की लोकेशन और अपने बिजनेस का नाम डाल सकते हैं। अपने बिजनेस से संबंधित वेबसाइट भी बना सकते हैं। अपने बिजनेस का फेसबुक पेज भी क्रिएट कर सकते हैं।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस में जोखिम [Risk]

इस बिजनेस में जोखिम के बारे में बात करें तो जोखिम की दर इस बिजनेस में सिर्फ 5% ही है। दरअसल इस बिजनेस में आपको तभी नुकसान उठाना पड़ सकता है, जब आपके ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों के द्वारा सही से काम ना किया जाए या फिर काम में कोई गड़बड़ी की जाए क्योंकि जब आपके क्लाइंट को सही काम नहीं मिलेगा तो वह अगली बार से आपको काम भी नहीं देगा।

इसलिए इस बात को अगर आप सीरियस लेते हैं तो निश्चित है कि आप इस बिज़नेस में सफलता की ऊंचाइयों को प्राप्त करेंगे।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस हेतु लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन [License and Registration]

इस बिजनेस को ऑफिस में किया जाता है। इसलिए आपके पास कुछ आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए। अगर आपने दुकान भाड़े पर ले करके अपना ऑफिस खोला है तो आपके पास भाड़ा करार होना चाहिए, साथ ही आपके पास जीएसटी का रजिस्ट्रेशन भी होना चाहिए।

 इसके अलावा आपके बिजनेस के नाम पर आपके पास पैन कार्ड भी होना चाहिए साथ ही बैंक में आपका करंट अकाउंट भी होना चाहिए।

ट्रांसक्रिप्शन सर्विस बिजनेस में फायदा [Profit]

इस बिजनेस के द्वारा आप कितना कमा सकते हैं यह डिपेंड करता है कि आपके ऑफिस में काम करने वाले वर्कर के द्वारा कैसी सर्विस आपके क्लाइंट को दी जा रही है और आप क्लाइंट से काम करने के बदले में कितने पैसे चार्ज कर रहे हैं।

 इस प्रकार से इस बिजनेस के द्वारा होने वाले फायदे के बारे में सही जानकारी आपको बिजनेस स्टार्ट करने के पश्चात ही मिलेगी।

हालांकि एक बात तो तय है कि अगर आप महीने में 50 से 60 क्लाइंट का भी काम करते हैं तो आसानी से आप 60000 से ₹70000 की कमाई कर सकते हैं और अगर महीने में आपके क्लाइंट 200 से लेकर के 300 हैं तो आप आसानी से महीने में ₹200000 से लेकर के ₹400000 तक की कमाई कर सकते हैं।

FAQ:

Q: ट्रांसक्रिप्शन का मतलब क्या होता है?

ANS: वॉइस अथवा वीडियो को शब्दों में बदलना।

Q: कौन सी भाषाओं का ट्रांसक्रिप्शन किया जाता है?

ANS: अलग-अलग भाषाओं का।

Q: ट्रांसक्रिप्शन का काम सबसे अधिक कहां मिलता है?

ANS: ऑनलाइन

Q: ट्रांसक्रिप्शन का काम पाने के लिए बेस्ट वेबसाइट कौन सी है?

ANS: Fiverr,upwork,guru.com

Other Links-

Leave a Comment